झारखंड में भूख से मरे बुजुर्ग की कब्र खोदकर लाश निकाली जाएगी

-remove-dead-bodies-from-hunger-on-death

झारखंड में एक 65 वर्षीय बुजुर्ग की मौत के बाद ये सवाल उठे कि उसकी मौत इसलिए हो गई क्योंकि उसे दो महीने से राशन नहीं मिला था. बताया जा रहा है कि बुजुर्ग की मौत भूख से हो गई थी. अब जब इस मामले में झारखंड के खाद्य मंत्री सरयू राय पर सवाल खड़े हुए तो उन्होंने भूख से मौत होने के आरोपों की जांच के लिए शव को खोद कर निकालने और पोस्टमॉर्टम के लिए भेजने के निर्देश दिए हैं.

आपको बता दें कि लुरगुमी काला गांव के रहने वाले रामचरण मुंडा की बुधवार को भूख से मौत हो गई थी. इस घटना के बाद उनकी पत्नी ने बताया था कि पिछले दो माह से उन्हें राशन नहीं दिया जा रहा था. इन आरोपों के बात झारखंड के खाद्य मंत्री सरयू राय ने कहा,

अगर आरोप सही हैं और अगर कोई भी दोषी पाया जाता है तो उसे नियम के अनुसार सजा मिलेगी. इस मामले के सभी पहलुओं की जांच की जाएगी, इसमें दो माह से राशन नहीं दिए जाने का आरोप भी शामिल है.

प्रशासन ने इन आरोपों से इनकार किया है. जिले के महुआदंड ब्लॉक के उप मंडलीय मजिस्ट्रेट सुधीर कुमार दास ने कहा कि मुंडा की मौत भूख से नहीं हुई और उनके परिवार को वह सभी सुविधाएं मिल रही हैं जिसके वे हकदार हैं. दास ने बताया कि स्थानीय राशन विक्रेता की तीन माह पहले मौत हो गई थी और उसके बाद उनकी पत्नी ने गांव में जन वितरण प्रणाली की जिम्मेदारी संभाल ली है.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.