मोदी के बाद योगी सबसे बड़े प्रचारक, 54 दिनों में कीं 137 रैलियां

Yogi_Adityanath

हिन्दुत्व का सबसे बड़ा ब्रांड बनकर उभरे योगी आदित्नाथ ने 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के लिए जमकर प्रचार किया. योगी आदित्यनाथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद दूसरे ऐसे प्रचारक रहे जिन्होंने सबसे ज्यादा रैलियां कीं.

मोदी ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने कैंपेन में 50 दिन के भीतर 142 रैलियां कीं. प्रधानमंत्री ने  28 मार्च को मेरठ से अपना प्रचार अभियान शुरू किया था. लेकिन योगी भी मोदी से पीछे नहीं हैं. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने 24 मार्च को सहारनपुर में शाकंभरी देवी के दर्शन कर चुनाव प्रचार की शुरुआत की थी और अपने कैंपेन में उन्होंने 137 रैलियों को संबोधित किया.

गोरखपुर सीट पर सबसे ज्यादा 25 सभाएं कीं

पूरे चुनाव प्रचार में योगी आदित्यनाथ ने सबसे ज्यादा ध्यान गोरखपुर सीट पर दिया. वैसे तो योगी आदित्यनाथ ने पूरे प्रदेश में चुनाव प्रचार किया लेकिन सबसे ज्यादा 25 रैलियां गोरखपुर में कीं. फायरब्रांड इमेज के नेता माने जाने वाले योगी बीजेपी के परंपरागत और हिंदू वोट को खींचने में कामयाब माने जाते हैं. चुंकि वो गोरखनाथ पीठ के महंत भी हैं लिहाजा उनकी पैठ नाथ संप्रदाय में भी है.

बीजेपी के लिए पूरे देश में योगी ने प्रचार किया

योगी आदित्यनाथ ने पूरे देश में प्रचार अभियान किया है. सिर्फ उत्तरप्रदेश ही नहीं बल्कि महाराष्ट्र और गुजरात में भी योगी ने सभाएं कीं. बीजेपी को लगता है कि योगी कि हिंदुत्व की छवि वोटरों को प्रभावित करती है. इस चुनाव में योगी ने अली और बजरंगबली का बयान भी दिया जिसकी वजह से चुनाव आयोग ने उनके प्रचार को 72 घंटों के लिए बैन भी किया था.

मोदी से ज्यादा पीछे नहीं रहे योगी आदित्यनाथ

चुनाव प्रचार के मामले में योगी आदित्यनाथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ज्यादा पीछे नहीं रहे. मोदी ने अपने 50 दिन के लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान के दौरान 142 रैलियां कीं और उनका फोकस उत्तरप्रदेश, बंगाल और ओडिशा की 143 सीटों पर रहा. यहां मोदी ने 54 यानी जनसभाएं कीं थी. 28 मार्च को उत्तरप्रदेश के मेरठ से शुरू हुआ उनका प्रचार अभियान 17 मई को मध्यप्रदेश के खरगोन में खत्म हुआ. वहीं योगी आदित्नाथ भी 137 रैलियों के साथ प्रचार के मामले में मोदी के बाद दूसरे नंबर पर रहे.  

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.