100 से ज्यादा वैज्ञानिकों ने वोटरों से कहा कि वो मॉब लिंचिंग के खिलाफ वोट करें

देश का सभ्रांत वर्ग देश में नफरत के खिलाफ वोट करने की अपील कर रहा है. पहले 100 फिल्मकारों और 200 लेखकों ने कहा कि नफरत के खिलाफ वोट करें. वहीं अब देश के 150 से अधिक वैज्ञानिकों ने मॉब लिंचिंग (भीड़ द्वारा हत्या) से जुड़े लोगों को वोट न देने की अपील की है.

देश के 150 नामी वैज्ञानिकों ने ये अपील की है कि वोटर असमानता, भेदभाव और डर के माहौल के खिलाफ वोट दें. अग्रेंजी अखबार द हिंदू में छपी खबर के मुताबिक इनमें इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च (आईआईएसईआर), इंडियन स्टैटिकल इंस्टीट्यूट (आईएसआई), अशोका यूनिवर्सिटी और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के वैज्ञानिक शामिल हैं. इन वैज्ञानिकों ने एक बयान जारी करके कहा है कि,

हमें ऐसे लोगों को खारिज करना चाहिए जो लोगों को मारने के लिए उकसाते हैं या उन पर हमला करते हैं. जो लोग धर्म, जाति, लिंग, भाषा या क्षेत्र विशेष के कारण भेदभाव करते हैं.’

इन वैज्ञानिकों ने ये भी बताया है कि मौजूदा हालात में वैज्ञानिक, कार्यकर्ता और तर्कवादी लोग घबराए हुए हैं. असहमति रखने वाले लोगों को प्रताड़ित करना, जेल में बंद करना, हत्या कर देना जैसी घटनाएं हो रही हैं. इन वैज्ञानिकों ने अपील की है कि देश का जो माहौल है उसमें वोटरों की भूमिका बढ़ जाती है. वोटरों को बेहद सतर्कता से वोट करने की जरूरत है.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.