गांधीनगर से टिकट कटने के बाद आडवाणी का ब्लॉग, कहा विरोधियों को कभी ‘देशद्रोही’ नहीं माना 


बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने गांधीनगर से टिकट कटने के बाद ब्लॉग लिखा है. उन्होंने टिकट कटने के बाद ये पहली प्रतिक्रिया दी है. टिकट कटने के बाद पहली बार आडवाणी ने बीजेपी को संदेश दिया है.

लाल कृष्ण आडवाणी ने अपने ब्लॉग में लिखा,

‘लोकतंत्र और लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा हमेशा से बीजेपी के लिए गर्व का विषय रही है।’

आडवाणी ने टिकट कटने के बाद जो कहा है उसके अर्थ गहरे हैं. सभी को उनकी प्रतिक्रिया का इंतजार था. लाल कृष्ण आडवाणी ने पहली बार सार्वजनिक रूप से अपने विचार व्यक्त किए हैं. उन्होंने ब्लॉग लिखा,

मैं गंभीरतापूर्वक चाहता हूं कि हम सभी को मिलकर भारत की लोकतांत्रिक छवि को मजबूत करने के लिए संयुक्त प्रयास करना चाहिए। चुनाव लोकतंत्र का त्योहार होते हैं। इसके साथ ही यह लोकतंत्र के स्तंभों की समीक्षा के लिए अवसर भी होता है। इनमें राजनीतिक दल, मीडिया, चुनाव कराने वाली संस्थाएं और सबसे ऊपर मतदाता भी शामिल हैं।’

बीजेपी ने इस बार गांधीनगर लोकसभा सीट से आडवाणी की जगह पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को मैदान में उतारा है. आडवाणी ने कहा है कि ‘नेशन फर्स्ट, पार्टी नेक्स्ट, सेल्फ लास्ट’ विपक्षी दलों ने बीजेपी को आडवाणी का टिकट कटने के बाद आड़े हाथों लिया था.

आडवाणी ने अपने ब्लॉग में लिखा ‘विविधता और बोलने की आजादी भारतीय लोकतंत्र की खूबसूरती है और भाजपा ने अपनी विचारधारा से असहमत लोगों के कभी भी दुश्मन नहीं माना.’

इन दिनों राष्ट्रवार का मुद्दा जोर पकड़ रहा है. और बीजेपी के तमाम देना विरोधियों को देशद्रोही कह रहे हैं. ऐसे में आडवाणी ने राष्ट्रवाद के मुद्दे पर भी ब्ल़ॉग में बात की है. उन्होंने लिखा,

‘हमने कभी भी अपने राजनीतिक विरोधियों को देशद्रोही नहीं कहा. राजनीतिक और निजी तौर पर सभी लोगों को अपनी बात कहने और अपना विचार चुनने की आजादी होनी चाहिए.’

Leave a Reply

Your email address will not be published.