पश्चिम बंगाल: ममता के गढ़ में कौन से ‘मिशन’ को पूरा करना चाहते हैं मोदी ?

पश्चिम बंगाल बीजेपी के लिए नाक का सवाल हो गया है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बाद अब पीएम मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यहां मोर्चा संभाला और ममता सरकार को घेरा है. मोदी पश्चिम बंगाल पर खास नजर बनाए हुए हैं और यही कारण था कि बीजेपी यहां पर रथयात्रा निकालना चाहती थी जिसकी अनुमति मिल पाई. अब मोदी ने यहां चुनावी अभियान शुरू कर दिया है.

पीएम मोदी सीमावर्ती उत्तर 24 परगना जिला और औद्योगिक नगर दुर्गापुर में रैलियों के माध्यम से ममता को घेरा है. ठाकुरनगर में मतुआ समुदाय की अच्छी खासी आबादी है. पीएम उन जगहों पर बीजेपी को मजबूत कर रहे हैं जहां पर ममता कमजोर हैं. या फिर जहां उनकी कोई कमजोरी है. मोदी का मिशन है कि वो पश्चिम बंगाल की 42 में से 22 सीटों पर बीजेपी को जिताएं.

बीजेपी ये मान कर चल रह है कि राज्य में उनका सीधा मुकाबला सत्ता धारी टीएमसी से है. और बीजेपी ने ममला के किले को फतह करने के लिए जो योजना बनाई है उसके तहत  वो करीब 310 रैलियां करने की तैयारी में है. बीजेपी की प्राथमिकता में 42 लोस सीटों में से 22 सीटों हैं. अभी बंगाल में बीजेपी के पास सिर्फ 2 सीटें हैं. मोदी का मिशन ये है कि यहां पार्टी का प्रदर्शन सुधारा जाए.

टीएमसी और बीजेपी के बीच रथ यात्रा को लेकर मतभेद हुआ. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मालदा में ममता बनर्जी को घेरा और मोदी ने भी अपने रैली में ममता पर जमकर निशाना साधा. अमित शाह ने तो यहां तक कह दिया कि अगर रथयात्रा निकलती तो ममता सरकार की अंतिम यात्रा निकल जाती. चुंकि विपक्ष पश्चिम बंगाल में अपनी ताकत दिखा चुका है लिहाजा अब बारी है बीजेपी की और मोदी इसमें चूकना नहीं चाहते.

Leave a Reply

Your email address will not be published.